Suraj Ki Garmi Se Bhajan Lyrics in Hindi

0
89

Suraj Ki Garmi Se is one of the most popular Bhajan. This Ram Bhajan is sung by Shiva. And here we provide you the Suraj Ki Garmi Se Bhajan’s Lyrics in Hindi. Check out the lyrics that are mentioned in the article. 

Suraj Ki Garmi Se Bhajan Details:

Bhajan Name Suraj Ki Garmi Se
Album Sab Ka Malik Sainath
Singer Shiva
Lyricist
Music 
Starring

Suraj Ki Garmi Se Bhajan Lyrics In Hindi:

सूरज की गर्मी से जलते हुए तन को मिल जाये तरुवर की छाया,
ऐसा ही सुख मेरे मन को मिला है, मैं जब से शरण तेरी आया, मेरे राम |

भटका हुआ मेरा मन था, कोई मिल ना रहा था सहारा |
लहरों से लगी हुई नाव को जैसे मिल ना रहा हो किनारा |
इस लडखडाती हुई नव को जो किसी ने किनारा दिखाया,
ऐसा ही सुख मेरे मन को मिला है, मैं जब से शरण तेरी आया | मेरे राम ||

शीतल बने आग चन्दन के जैसी राघव कृपा हो जो तेरी |
उजयाली पूनम की हो जाये राते जो थी अमावस अँधेरी |
युग युग से प्यासी मुरुभूमि ने जैसे सावन का संदेस पाया |
ऐसा ही सुख मेरे मन को मिला है, मैं जब से शरण तेरी आया | मेरे राम ||

जिस राह की मंजिल तेरा मिलन हो उस पर कदम मैं बड़ाऊ |
फूलों मे खारों मे पतझड़ बहारो मे मैं ना कबी डगमगाऊ |
पानी के प्यासे को तकदीर ने जैसे जी भर के अमृत पिलाया |
ऐसा ही सुख मेरे मन को मिला है, मैं जब से शरण तेरी आया | मेरे राम ||

Youtube Click Here
Hungama Click Here
Gaana Click Here
JioSaavn Click Here

Here are the Suraj Ki Garmi Se Bhajan lyrics in Hindi and details of the Suraj Ki Garmi Se  Bhajan and we also provide you a list of the platforms or applications where this track is available now. We hope you have enjoyed the songs lyrics mentioned above and there are lot of other song’s lyrics are available on our website with sufficient details. Do not forget to check it out.